मध्प्रदेशहॉट न्यूज़

तीसरी बार बदला सिंधिया के स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स का स्थान

गुना। कांग्रेस महासचिव एवं क्षेत्रीय सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का ड्रीम प्रोजेक्ट माने जाने वाले स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स को लेकर तीसरी बार स्थान बदल गया है। अब यह स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स बीज निगम परिसर में बनाने की तैयारी हो रही है। इसको लेकर सिंधिया शुक्रवार शाम गुना आए और बीज निगम परिसर में स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स बनाने को लेकर स्वीकृति दे दी। हालांकि इससे पहले सिंधिया ने स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स के लिए प्रस्तावित जगनपुर चक की जमीन और बीज निगम परिसर को मौके पर जाकर देखा। दोनों ही स्थानों पर सिंधिया ने बमुश्किल 2-2 मिनट का समय दिया।

इससे लग रहा है कि बीज निगम परिसर को लेकर उनका मन पहले से तैयार कर दिया गया था। बहरहाल सांसद की स्वीकृति के बाद अब स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स को लेकर प्रक्रिया तेज होने की संभावना बन रही है। सांसद का कहना है कि जगनपुर चक और बीज निगम परिसर की जमीन की अदला-बदली के प्रयास किए जाएंगे। या फिर बीज निगम को कहीं और जमीन दी जाएगी। सात साल पहले संजय स्टेडियम तय हुआ था स्थान उल्लेखनीय है कि शहर में स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स को लेकर सासंद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सपना 2011-12 में देखा था। तब संजय स्टेडियम में स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स बनाने स्थान तय हुआ था। तब निर्माण की जिम्मेदारी नगर पालिका को सौपी गई । जिसने इसको लेकर प्रक्रिया भी शुरु कर दी थी, किन्तु बाद में जानकारी सामने आई कि चूंकि संजय स्टेडियम की जमीन नगर पालिका की नहीं है, इसलिए नपा वहां काम नहीं कर सकती। फिर सिंधिया ने अपने इस ड्रीम प्रोजेक्टर के लिए जगनपुर चक में जमीन देखी और इसको लेकर प्रशासन से आवंटन की प्रक्रिया भी पूर्ण करा ली। जमीन का आवंटन खेल विभाग को हुआ।

इसको लेकर शिलान्यास भी सांसद ने बापू पार्क में कर दिया था, किन्तु निर्माण शुरु नहीं हो सका। प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद हाल ही में सांसद ने स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स को लेकर फिर प्रयास तेज किए, किन्तु फिर स्थान में शहर से दूरी का अड़ंगा लगने लगा। खेल संघों की तरफ से आपत्ति आई कि जगनपुर चक का स्थान शहर से दूर है, इसलिए यहां स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स का अपेक्षित लाभ खिलाडिय़ों को नहीं मिल पाएगा। इसके बाद स्थान खोजने को लेकर फिर कवायद शुरु हुई, जो शुक्रवार को बीज निगम परिसर पर पहुँचकर खत्म हुई है। आनन-फानन में आए सिंधिया और दे गए स्वीकृति अपने ड्रीम प्रोजेक्ट के लिए जमीन देखने सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया शुक्रवार शाम विशेष तौर पर गुना आए।

इस दौरान वह करीब एक घंटे गुना में रुके और जगनपुर चक एवं बीज निगम परिसर में स्पोटर्स कॉम्पलेक्स निर्माण को लेकर संभावनाएं तलाशीं। सांसद सबसे पहले जगनपुर चक और फिर बीज निगम परिसर पहुँचे। दोनों ही स्थानों पर उन्होने बमुश्किल 2-2 मिनट का समय दिया। इसके बाद बीज निगम परिसर में स्पो्र्ट्रस कॉम्पलेक्स बनाने स्वीकृति दी। तत्पश्चात सांसद हवाई जहाज से दिल्ली के लिए रवाना हो गए। बीज निगम को दी जाएगी जगनपुर चक की जमीन सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कि स्पोर्ट्रस कॉम्पलेक्स को लेकर जमीन की अदला-बदली की जाएगी। बीज निगम से स्पोटर्स कॉम्पलेक्स के लिए जमीन हस्तांतरित की जाएगी और फिर बीज निगम को जगनपुर चक की जमीन दी जाएगी। अगर इस प्रक्रिया में कोई समस्या आती है तो बीज निगम को कहीं और जमीन आवंटित की जा सकती है। बीज निगम परिसर में करीब 8-10 हेक्टेयर में स्पोटर्स कॉम्पलेक्स का निर्माण होगा। इसको लेकर सांसद ने प्रदेश कांग्रेस महासचिव योगेन्द्र लुम्बा, जिला कांग्रेस अध्यक्ष विठ्ठलदास मीना एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता सुनील अग्रवाल शुभम को भी निर्देशित किया है।

कोई ग्रीन लैंड का चक्कर नहीं :
लुम्बा बीज निगम की जमीन को लेकर प्रदेश कांग्रेस महासचिव योगेन्द्र लुम्बा ने कोई ग्रीन लैंड का चक्कर नहीं होने की बात कही है। लुम्बा का कहना है कि यह बेवजह की अफवाह उड़़ाई जा रही है। वैसे भी खेल गतिविधियों के लिए ऐसी कोई तकनीकि समस्या नहीं आती है। उन्होने कहा कि जल्द ही स्पोट््र्रस कॉम्पलेक्स का निर्माण शुरु होगा। अगर प्रक्रिया के मुतबिक सब हुआ तो शहर में बनेंगे तीन स्टेडियम जिस तरह की फिलहाल स्थिति सामने आ रही है, उसे देखकर लग रहा है कि अगर सारा कुछ इसी प्रक्रिया के मुताबिक होता है तो शहर में एक नहीं बल्कि तीन खेल स्टेडियम बन जाएंगे। इसमें दो स्टेडियम मिनी स्मार्ट सिटी के तहत बनाए जा रहे है तो एक की प्रक्रिया सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने स्तर पर कर रहे है।

जानकारी मुताबिक मिनी स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत संजय स्टेडियम को स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के रूप में विकसित किया जाना है, इसकी लागत 11 करोड़ रुपये से ज्यादा होगी, वहीं जगनपुर में सिर्फ क्रिकेट के लिए एक स्टेडियम बनेगा, जिसकी लागत 4.11 करोड़ रुपये होगी। नपाध्यक्ष राजेन्द्र सलूजा इनके टेंडर जारी होने के साथ ही वर्क ऑर्डर तक जारी होने की बात कह रहे है। उनका कहना है कि कांग्रेस की सरकार है, वह कभी भी भूमिपूजन कर निर्माण कार्य प्रारम्भ करवा सकते है, इसके साथ ही मिनी स्पार्ट सिटी में हनुमान टेकरी पर पथ परिक्रमा भी बनाई जाना है। यह पथ परिक्रमा 5 करोड़ की लागत से बनाई जाएगी।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Bitnami