देशराजनीतिकहॉट न्यूज़

नए भारत के निर्माण के लिए केन्द्र सरकार पूरी तरह तैयारः नरेन्द्र मोदी

जम्मू। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर के एक दिवसीय दौरे में कहा कि केंद्र सरकार नए भारत के निर्माण के लिए पूरी तरह से तैयार है। यहां शुरू होने जा रही विभिन्न विकास परियोजनाओं से लोगों को काफी लाभ होगा और विकास की राह सुगम होगी। रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू- कश्मीर के एकदिवसीय दौरे में सबसे पहले लेह पहुंचे और विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया। जम्मू में कई परियोजनओं का शुभारंभ-उद्घाटन करने के बाद उन्होंने एक बड़ी रैली को सम्बोधित किया। उसके बाद श्रीनगर पहुंचे जहां पर भी उन्होंने कई परियोजनाओं की नींव रखी और कई परियोजनाओं का उद्घाटन किया। राज्य के तीनों स्थानों पर प्रधानमंत्री ने 44 हजार करोड़ रुपये की 25 परियोजनाओं की नींव रखी व उद्घाटन किया।

जम्मू के विजयपुर में एम्स की आधारशिला रखने के बाद एक बड़ी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री अपना भाषण शुरू करते हुए डोगरी भाषा में कहा `पैनो ते पराओए मां वैष्णो देवी ते मां बाबे आली दे चरणे च रौने आले अस डोगरे आं, आखने आं शान कन्ने। 2019 दी जंग भी देश दे अग्गे जाने दी जंग है, आओ रली मिलिए देश गी अग्गे लेई चलते।’

उन्होंने कहा कि एम्स से जहां एक ओर लोगों को उत्तम स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेंगी, वहीं विद्यार्थियों को भी आगे बढ़ने के अवसर मिलेंगे। एम्स के साथ ही राज्य में बन रहे 5 नए मेडिकल कॉलेजों की वजह से राज्य के लोगों को एमबीबीएस की 500 से ज्यादा सीटें अतिरिक्त मिलेंगी। एम्स के साथ ही जम्मू में आईआईएम का नया कैंपस विद्यार्थियों को नए अवसर प्रदान करने वाला है।

उन्होंने कहा कि अभी हाल ही में 10 प्रतिशत का आरक्षण सामान्य वर्ग के गरीब लोगों को दिया गया है, इससे राज्य के लोगों को भी लाभ होगा। इंद्री पतन सुजवाल पुल से 50 किलोमीटर की दूरी केवल 5 किलोमीटर रह जायेगी। चनैनी-शुद्धमहादेव सड़क की सारी बाधाओं को दूर कर लिया गया है और जम्म-पुंछ राष्ट्रीय मार्ग पर फोर लेन का काम तेजी से चल रहा है। पन बिजली परियोजनाओं से बिजली ढांचा मजबूत किया जा रहा है और इससे न केवल राज्य में बिजली की समस्या दूर होगी बल्कि हजारों युवाओं को रोजगार भी मिलेगा। पिछली सरकार पर विकास को नजरअंदाज किये जाने के रवैया पर तंज करते हुए कहा कि आप जानते हैं और उस सरकार ने हमेशा लोगों की बातों की अनदेखी की है।

पाक व बांग्लादेश में रहने वाले कई मां-बहनों के चलते भारतीय लोगों की संतानों के साथ भेदभाव व प्रताड़ना हुई है। उन्हें न्याय दिलाने व उनकी रक्षा के लिए हम नागरिकता संशोधन बिल लेकर आए हैं और उनके हकों की रक्षा के लिए भारत हमेशा खड़ा रहेगा। उन्होंने कहा कि कश्मीरी पंडित विस्थापितों के सम्मान, अधिकार व गौरव के लिए केन्द्र सरकार प्रतिबद्ध है। उन्हें जो दुख-दर्द व यातनाएं मिलीं हैं, हिन्दुस्थान उसे कभी नहीं भूलेगा और मेरे मन में उनके लिए हमेशा पीड़ा रहती है। उन्होंने कहा कि राज्य में गठबंधन सरकार होने के कारण कई विकास परियोजनाओं पर काम नहीं हो पा रहा था और न ही राज्य में पंचायत व निकाय चुनावों को करवा पा रहे थे। लेकिन अब चुनाव हुए हैं और बिना किसी नुकसान के 74 प्रतिशत मतदान हुआ है, जिसके लिए जम्मू की जनता व प्रशासन बधाई के पात्र हैं।

इस मौके पर कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए उन्होंने कहा कि चुनाव आते ही उन्हें किसानों के कर्ज माफी का बुखार आता है। कांग्रेस ने चुनाव जीतने के लिए 2008-2009 में भी किसानों के लिए कर्जमाफी का ऐलान किया था और उस समय किसानों पर 6 लाख करोड़ रुपये का कर्ज था, जिसमें से माफ किया गया सिर्फ 52 हजार करोड़। उनमें से 30-35 लाख लोग ऐसे थे जो कर्जमाफी के हकदार ही नहीं थे। वो कौन लोग थे, वह कौन सा पंजा था जो खजाना खाली कर गया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस की वही सच्चाई अब मध्यप्रदेश में सामने आ रही है। वहां ऐसे लोगों का कर्ज माफ हो रहा है जिन पर कर्ज ही नहीं है और जिनका कर्ज माफ हुआ है, उन्हें मिला है केवल 13 रुपये का चेक । कर्ज माफी के नाम पर बिचौलियों की जेबें भरी जाती रही हैं और भरी जायेंगी। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस ईमानदारी से कर्ज माफ करे भी तो 100 किसानों में से केवल 30-35 किसानों को ही लाभ मिल पायेगा। कांग्रेस की योजनाएं केवल अपने अगल-बगल वालों के लिए ही बनीं हैं और बनती रहेंगी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसान समृद्धि योजनाए जिसे हमने लाया है उससे 12 करोड़ किसानों को लाभ मिलेगा। साल में 2-2 हजार की 3 किश्तों के रूप में किसानों को पैसे सीधे उनके खातों में भेजे जायेंगे । भाजपा सरकार ने जो योजना बनाई है उससे आने वाले 10 सालों में 7.5 लाख करोड़ रुपये किसानों के खाते में जमा होंगे। प्रधानमंत्री किसान समृद्धि योजना एक बड़ी योजना है और किसानों के खेती पर होने वाले खर्च को कम करने के साथ ही फसलों का उचित मूल्य दिलवाने के इंतजाम किए जा रहे हैं।

पीएम मोदी ने बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इस बजट में जय किसान के साथ जय जवान पर भी ध्यान दिया गया है। वन रैंक-वन पेंशन के मुद्दे पर भी कांग्रेस ने जवानों की आंखों में धूल झोंकी। वर्तमान सरकार 35 हजार करोड़ रुपये इस संबंध में अदा कर चुकी है और रक्षा बजट को भी 3 लाख करोड़ कर दिया गया है। उन्होंने राज्य में शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि देश की सरकार उनके परिवारों के साथ खड़ी रहेगी। सीमा पर रह रहे लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा रही है।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री डा. जितेन्द्र सिंह, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अविनाश राय खन्ना, पूर्व उपमुख्यमंत्री डा. निर्मल सिंह, सांसद जुगल किशोर, सांसद शमशेर सिंह मन्हास सहित प्रदेश भाजपा के कई वरिष्ठ नेता उपस्थित थे। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लद्दाख के लेह में विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया और सभा में कहा कि बिलासपुर-मनाली रेल लाइन बन जाने से यात्रियों को न सिर्फ सुविधा मिलेगी बल्कि पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। साथ ही दिल्ली से लेह तक की दूरी भी घट जाएगी। लद्दाख की इन विकास परियोजनाओं में लेह में लद्दाख विश्वविद्यालय का उद्घाटन, केबीआर एयरपोर्ट लेह की नई टर्मिनल की इमारत की नींव का पत्थर रखना, श्रीनगर-अलस्टिंग-द्रास-करगिल-लेह ट्रांसमिशन सिस्टम को यहां की जनता को समर्पित करना, नौ मेगावॉट दाह हाईड्रोइलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट का उद्घाटन तथा नये पर्यटक व ट्रेकिंग मार्ग को खोलना मुख्य रूप से शामिल रहा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जम्मू के बाद श्रीनगर में भी विभिन्न परियोजनाओं का उदघाटन व पुलवामा एम्स का शुभारंभ करते हुए कहा कि पिछले चार साढ़े चार सालों से जम्मू में विकास करने का सिलसिला जारी है। पिछले 10-20 सालों से लटकी परियोजनओं को भी समय के भीतर पूरा कर लिया गया है। जम्मू-कश्मीर के हर गांव में बिजली पहुंचाने के बाद अब बिजली की अपूर्ति को सुनिश्चित किया जा रहा है। आजादी के बाद पहली बार राज्य में इतने व्यापक स्तर पर विकास कार्य हो रहे हैं। अनेक पनबिजली परियोजनाएं यहां शुरू की गई हैं और यह परियोजनाएं सरकार की प्राथमिकता का परिणाम हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू व पुलवामा में एम्स का शिलान्यास किया गया है जिससे राज्य में एक बड़ा बदलाव आयेगा। हमारी सरकार ने तय समय सीमा में विकास लक्ष्यों को पूरा करने का काम किया है। पहली सरकार के समय सभी परियोजनाएं दिल्ली के विज्ञान भवन से शुरू होती थीं लेकिर हमने पूर्व सरकारों की इस कार्य संस्कृति को ही बदल दिया। हमने सभी योजनाएं अलग-अलग राज्यों से शुरू की। लाल किले से मैंने 18 हजार गांवों में बिजली पहुंचाने का संकल्प लिया था और इस लक्ष्य को समय सीमा के भीतर ही पूरा कर लिया गया। देश के करोड़ों गरीबों को मुफत बिजली देने का कार्य जारी है और अब तक ढाई करोड़ परिवारों को मुफत बिजली दी जा चुकी है। जम्मू-कश्मीर खुले में शौच मुक्त हो चुका है इसके लिए यहां की जनता व प्रशासन को बहुत-बहुत बधाई है। जम्मू- कश्मीर देश में पहला राज्य बनने जा रहा है, जहां हर घर में पानी की पाईप से पानी पहंचेगा। उन्होंने कहा कि संसाधनों की साझेदारी हमारे देश की बहुत बड़ी ताकत है। यही भारत की भावना है और यही कश्मीर की आत्मा है। कश्मीरीयत का यही तकाजा है कि हिंसा के दौर में जिन कश्मीरी पंडित भाईयों को अपना घर, अपनी जमीन और अपने पूर्वजों की यादों को छोड़ कर जाना पड़ा है उन्हें सम्मान के साथ यहां बसाया जाये। प्रधानमंत्री विकास योजना के तहत उन्हें फिर से कश्मीर में बसाने के प्रयास जारी हैं।

उन्होंने कहा कि आतंकवाद के साथ किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जायेगा और उसे मुंहतोड़ जबाव दिया जायेगा। इसके खिलाफ पूरी ताकत से लड़ेंगे। सर्जिकल स्ट्राइक के माध्यम से हमने इरादे स्पष्ट कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि देश भर में शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना के तहत 50 करोड़ गरीब भाई- बहन लाभान्वित होंगे जिनमें से 30 लाख जम्मू- कश्मीर से हैं। इस योजना के तहत देशभर में अबतक 10 लाख लोगों का मुफ्त इलाज हो चुका है और उन्हें नई जिन्दगी मिली है। इस योजना के अंतर्गत आने वाला लाभार्थी देश में कहीं भी अपना इलाज करवा सकता है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Bitnami