लाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेस

मोटापे कि वजह से करना पड सकता है इन बिमारियों का सामना

मोटापा सिर्फ डायबिटीज या दिल संबंधी बीमारी को ही नहीं, बल्कि कैंसर जैसी घातक बीमारी को भी न्योता देता है। हाल ही में हुई एक स्टडी की रिपोर्ट में बताया गया है कि मोटापे के कारण दुनियाभर में 4 फीसदी लोग कैंसर की चपेट में आ चुके हैं। स्टडी की रिपोर्ट के मुताबिक, दुनियाभर में 3 बिलियन से ज्यादा लोग मोटापे से पीड़ित हैं।

हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक, आने वाले कुछ सालों में मोटापे से पीड़ित लोगों में लगातार बढ़ोतरी होने की संभावना है। स्टडी के मुताबिक, आधुनिक जीवनशैली में खराब डाइट और सुस्त लाइफस्टाइल के चलते लोग तेजी से मोटापे की गिरफ्त में आ रहे हैं।

लेकिन हार्वर्ड यूनिवर्सिटी और लंदन के इंपीरियल कॉलेज द्वारा हुई स्टडी में बताया गया है कि ज्यादा वजन होने के कारण एक साल में दुनियाभर में कैंसर के लगभग 544,300 मामले सामने आए हैं। हालांकि, हर साल मोटापे से होने वाले कैंसर के आकड़ों में तब्दीली देखने की मिलती है।स्टडी की रिपोर्ट की मानें तो मजबूत आर्थिक स्थिति वाले देश U.S में मोटापे की वजह से 7 फीसदी लोग कैंसर से जूझ रहे हैं।

जबकि, भारत और इथियोपिया जैसे कमजोर आर्थिक स्थिति वाले देशों में मोटापे से केवल 1 फीसदी लोग ही कैंसर की चपेट में आए हैं। शोधकर्ताओं ने इसका मुख्य कारण अनहेल्दी लाइफस्टाइल को बताया है। हालांकि, अभी तक ये पूरी तरह साफ नहीं हुआ कि मोटापे और कैंसर में क्या संबंध है, लेकिन मौजूदा स्टडी में बताया गया है कि मोटे लोगों में इंसुलिन की मात्रा ज्यादा होती है। शरीर में इंसुलिन हार्मोन का अधिक स्तर बढ़ना कैंसर का कारण हो सकता है।

हालांकि, कुछ Asian Pacific के मजबूत आर्थिक स्थिति वाले देशों के लोग लो फैट डाइट और एक्सरसाइ को अपनी जीवनशैली में शामिल कर कैंसर को मात दे रहे हैं। वहीं, कुछ ज्यादा वजनी महिलाओं में एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है, जिससे ब्रेस्ट और एंडोमेट्रियल कैंसर होने का खतरा बढ़ सकता है।पिछली कुछ स्टडी में सामने आया था कि मोटापे से जूझ रहे लोगों में 13 तरह के कैंसर होने का खतरा रहता है।

हालांकि, मौजूदा समय में इनमें सबसे ज्यादा प्रोस्टेट, ओरल और इसोफेगल कैंसर का खतरा रहता है।नई स्टडी की रिपोर्ट में ये भी सामने आया है कि अच्छी आर्थिक स्थिति वाले देशों में कम आर्थिक स्थिति वाले देशों के मुकाबले अधिक लोग मोटापे से पीड़ित हैं. अनहेल्दी, सुस्त लाइफस्टाइल और अनहेल्दी डाइट इसकी अहम वजह है।

इसके विपरित U.S के लोग ज्यादा कार्बोहाइड्रेट, शुगर, फैट और रेड मीट का सेवन करते हैं. ये U.S के लोगों में मोटापे और मोटापे से होने वाले कैंसर के अधिक मामले होने का अहम कारण है।इसको देखते हुए वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) दुनियाभर में बढ़ रही मोटापे की समस्या को कम करने की जद्दोजहद में लगी हुई है, ताकि मोटापे से होने वाले कैंसर और दूसरी सेहत संबंधी समस्याओं पर नियंत्रण पा सकें।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Bitnami